Home फीचर कभी घर-घर जाकर सामान बेचता था, लेकिन किस्मत ने बना दिया रैपर,...

कभी घर-घर जाकर सामान बेचता था, लेकिन किस्मत ने बना दिया रैपर, तकिए के नीचे रखे 10 हजार रुपयों ने चमका दी किस्मत

90
0

अक्सर आपने सुना होगा कि लोगों की रातों-रात किस्मत चमक जाती है. लेकिन आज हम आपको एक ऐसी रैपर के बारे में बताने जा रहे हैं जो कि घर-घर जाकर सामान बेचता था. लेकिन ये सितारा किस्मत से रैपर पर बन गया, तकिए के नीचे रखे 10,000 रुपए मे इस स्टार की किस्मत चमका दी.

हम बात कर रहे हैं बेहतरीन रैपर रफ्तार की. रफ्तार के गाने लोगों को बहुत पसंद आते हैं. एक बार रफ्तार ने अपनी लाइफ जर्नी का खुलासा किया था. इस दौरान रफ्तार ने बताया कि उन्होंने सेल्समैन की नौकरी छोड़कर म्यूजिक को अपना पैशन बनाया. जिसमें उनके पिता ने भी पूरा सपोर्ट दिया और वह म्यूजिक को फॉलो करने लगे.

दरअसल रैपर रफ्तार नेहा धूपिया के के शो ‘नो फ्लिटर’ पर पहुंचे थे. जहां उन्होंने अपनी लाइफ जर्नी के बारे में बताया. रफ्तार ने कहा- 2006 में यूसीबी में मैंने सेल्समैन की जॉब की थी लेकिन उस जॉब पर मेरे पापा ने कुछ ऐसा किया था कि मुझे लगेगा अब लड़ना ही पड़ेगा. मेरी सैलरी 10,000 रुपए हुआ करती थी और पापा की सैलरी 12,000 रुपए.

आगे उन्होंने बताया- एक बार पापा ने अपनी सैलरी से 10,000 रुपए निकाल कर मेरे तकिए के नीचे रख दिए. बोले कि जॉब पर जाने की जरूरत नहीं है, ये ले तेरी सैलरी. उस दिन फैसला कर लिया था कि अब छूट सामने से उन्होंने दे दी है. मैं एसक्यूज़ नहीं दे सकता था कि मैं इसलिए नहीं कर पाया कि मेरे मां-बाप ने साथ नहीं दिया. मेरे मां बाप कहते थे आजमां ले अपनी किस्मत. कुछ ना हुआ, तो एक दुकान खोल लेंगे, भूखा नहीं मरेगा. आगे रफ्तार ने बताया- उन्होंने किस प्रकार लिखना शुरू किया. रफ्तार ने कहा- वो सातवीं से ही लिखने लगे थे. लेकिन उन्हें इस बारे में नहीं पता था उन्होंने जो लिखा था वो उसे अच्छा राइम मानते थे. धीरे धीरे रफ्तार आगे बढ़ते गए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here