Home फीचर दो वक्त की रोटी के लिए अखबार बेचने को मजबूर हो गया...

दो वक्त की रोटी के लिए अखबार बेचने को मजबूर हो गया था ये अभिनेता, फिल्मों में काम देने से मना कर देते थे फिल्ममेकर्स, लेकिन आज है बड़ा सितारा

104
0

जैसे-जैसे जमाना बदलता गया चीजें भी बदलती गई. सिनेमा जगत में भी काफी बदलाव हुए. आज के सिनेमा और पुराने सिनेमा में काफी अंतर है. ऐसा बॉलीवुड के कुछ बड़े सितारों का भी कहना है. आज हम आपको बॉलीवुड केउस मशहूर अभिनेता के बारे में बताने जा रहे हैं जो कभी दो वक्त की रोटी के लिए मजबूरी में अखबार बेचा करता था. इस अभिनेता को फिल्ममेकर फिल्मों में काम देने से मना कर देते थे. लेकिन आज ये अभिनेता बॉलीवुड का जाना माना सितारा है.

हम बात कर रहे हैं मशहूर फिल्मों में खलनायक की भूमिका निभाने वाले मशहूर अभिनेता प्रेम चोपड़ा की. एक समय फिल्मों में खलनायक का रोल काफी पसंद किया जाता था. प्रेम चोपड़ा के अभिनय के लोग कायल थे. जिस फिल्म में प्रेम चोपड़ा नजर आते थे, लोग समझ जाते थे कि फिल्म में कोई ना कोई गड़बड़ होगी. एक बार प्रेम चोपड़ा ने बताया था- जब मैं हीरो बनने के लिए इंडस्ट्री में आया, तो बतौर हीरो मैंने काम किया. लेकिन मुझे कामयाबी नहीं मिली. उस वक्त मेरी हालत ऐसी नहीं थी कि मैं फिल्म के लिए मना कर सकूं. मुझे विलेन का रोल मिला, मैंने वो भी किया. खलनायक के रोल में लोगों ने मुझे पसंद किया, तो मैं वही करने लगा और मुझे वैसे ही रोल मिलने लगे.

संघर्ष के दिनों को याद करते हुए प्रेम चोपड़ा ने बताया था- शुरुआत में मुझे काम मिलना बहुत मुश्किल था. कई बार मुझे रिजेक्ट किया गया. प्रोड्यूसर, डायरेक्टर मेरी तस्वीर देखकर साइड में रख देते थे और कहते थे बाद में आना. कई बार मुझे मुंह पर ही मना कर दिया जाता था. प्रेम चोपड़ा के पिता सरकारी नौकरी करते थे. ऐसे में वो चाहते थे कि उनका बेटा एक आईएएस अफसर बने. लेकिन प्रेम चोपड़ा एक्टिंग करना चाहते थे. इसलिए वो अपने पिता को मनाकर मुंबई आ गए और इंडस्ट्री में अपना सपना पूरा करने के लिए संघर्ष शुरू किया.

प्रेम चोपड़ा ने बताया- मुंबई में हमारा कोई नहीं था जिससे कि मुझे काम शुरू में काम मिल जाए. मैंने नौकरी करना शुरू कि.या मैं एक अखबार के सरकुलेशन डिपार्टमेंट में काम करता था. उस दौरान मुझे फिल्मों में भी काम मिलना शुरू हो गया था. लेकिन मैंने नौकरी नहीं छोड़ी. जब मुझे लगा कि एक्टिंग से मुझे दो वक्त की रोटी मिलने में कोई दिक्कत नहीं आ रही, तब मैंने नौकरी से दूरी बनाई और पूरी तरह से अभिनय के प्रति समर्पित हो गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here