Home टीवी जिस तरह सोना भट्टी में पकता है, वैसे ही मैं भी गरीबी...

जिस तरह सोना भट्टी में पकता है, वैसे ही मैं भी गरीबी की भट्टी में पकी हूं: भारती सिंह

33
0

टीवी इंडस्ट्री की जानी-मानी कॉमेडियन भारती सिंह को लोग ‘लाफ्टर क्वीन’ कहते हैं, जो हर साल 3 जुलाई को अपना जन्मदिन सेलिब्रेट करती हैं। आज भारतीय अपना 36वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रही है। हमेशा ही अपने फैंस को हंसाने वाली भारती को अपने बचपन में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। उनका बचपन गरीबी में बीता। लेकिन उन्होंने कड़े संघर्ष के बाद आज यह मुकाम हासिल किया। खुद भारती ने एक इंटरव्यू में अपने बचपन के किस्सों को बताया था।

2 साल की उम्र पर भारती के पिता इस दुनिया को छोड़ कर हमेशा के लिए चले गए। इसके बाद उनके परिवार पर काफी परेशानी आ गई। भारती अपने तीन भाई बहनों में सबसे छोटी थी। हालांकि परिवार की परेशानियों की वजह से भारती को बचपन से ही काम शुरू करना पड़ा। पिता के गुजर जाने के बाद भारती की मां दूसरों के घर पर जाकर खाना बनाने का काम करती थी। भारती ने इंटरव्यू में बताया कि मेरी भगवान से यही दुआ है कि मेरा जैसा बचपन किसी को ना मिले।

जिंदगी के संघर्ष से भारती को काफी कुछ सीखने को मिला और आज वो उनके काम भी आ रहा है। हालांकि वह अपने संघर्ष के वक्त को याद करना नहीं चाहती। एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने बताया कि जिस तरह सोना भट्टी में पकता है, उसी तरह मैं भी गरीबी की भट्टी में पकी हूं। भारती भी बचपन में अपनी मां के साथ दूसरों के घर पर खाना बनाने के लिए जाती थी। हालांकि वह वहां सिर्फ बैठी रहती थी। वो उस वक्त यह सोचा करती थी क्या मेरा घर भी कभी ऐसा हो पाएगा।

लेकिन भारती ने कड़े संघर्ष के बाद पूरी परिस्थितियां बदल दी और उनका घर तो उस घर से भी बहुत अच्छा बन चुका है। हमेशा ही भारती को अपनी मां और भाई बहनों से मेहनत करने की सीख मिली। इसी वजह से आज भारती इस मुकाम पर पहुंचने में कामयाब हुई। भारती की मां का कहना था कि कभी भी मेहनत करना नहीं छोड़ना चाहिए। भारती ने काफी मेहनत की और आज वह मायानगरी में लाफ्टर क्वीन के नाम से मशहूर हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here