Home फीचर 13 की उम्र में 43 साल के डांसर से शादी, इस्लाम अपनाकर...

13 की उम्र में 43 साल के डांसर से शादी, इस्लाम अपनाकर निर्मला से बनीं सरोज खान, ऐसा रहा जिंदगी का सफर

36
0

22 नवंबर 1948 को मुंबई में जन्मीं सरोज खान ने 72 साल की उम्र में अंतिम सांसें लीं. सरोज खान का कार्डियक अरेस्ट की वजह से निधन हो गया. मुंबई के मलाड के मालवाणी कब्रिस्तान में आज उनका शव सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा. सरोज खान के निधन की खबर से बॉलीवुड गमगीन हो गया है. बता दें कि सरोज खान ना केवल अपने करियर को लेकर, बल्कि अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर भी विवादों में रही.

सरोज खान के पिता का नाम किशनचंद सद्धू सिंह और मां का नाम नोनी सद्धू सिंह है. सरोज खान का असली नाम निर्मला नागपाल था. लेकिन उन्होंने जब इस्लाम धर्म कुबूल किया तो अपना नाम बदलकर सरोज खान रख लिया. सरोज खान ने 3 साल की उम्र में ही काम करना शुरू कर दिया था. फिल्म नजराना में वह बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट के रूप में नजर आईं थीं. सरोज खान को बचपन से ही डांस करना बेहद पसंद था. उन्होंने बी सोहनलाल से डांस की ट्रेनिंग ली. इस दौरान उनके और सोहनलाल के बीच नजदीकियां बढ़ी.

सरोज खान ने कुछ समय बाद 43 साल के सोहनलाल से शादी कर ली. उस समय सरोज खान की उम्र केवल 13 साल थी. सरोज खान और सोहनलाल की उम्र में बहुत ज्यादा फैसला था. एक इंटरव्यू में सरोज खान ने अपनी शादी को लेकर कहा था- मैं तब स्कूल में पढ़ती थी. मेरे डांस मास्टर सोहनलाल ने मेरे गले में काला धागा बांधा था और मेरी शादी हो गई थी. मैंने तभी अपनी मर्जी से इस्लाम धर्म कुबूल किया था.

बता दें कि सरोज खान ने एक इंटरव्यू में कहा था कि जब मेरी सोहनलाल से शादी हुई थी, तब मुझे उनकी पहली शादी के बारे में कुछ नहीं पता था. जब मेरे बेटे राजू का जन्म हुआ, तब मुझे इस बात की जानकारी हुई. सरोज खान ने यह भी बताया कि मेरे पति सोहनलाल ने मेरे बच्चों को अपना नाम देने से मना कर दिया था. हालांकि कुछ साल बाद सोहनलाल का हार्ट अटैक की वजह से निधन हो गया. सरोज खान ने अपने बच्चों का पालन-पोषण खुद ही किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here