Home फीचर फिल्मों के लिए छोड़ी थी सरकारी नौकरी, लेकिन स्क्रीन टेस्ट में हो...

फिल्मों के लिए छोड़ी थी सरकारी नौकरी, लेकिन स्क्रीन टेस्ट में हो गया फेल, बाद में लेने लगा हीरो से ज्यादा फीस

84
0

बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में ना जाने ऐसे कितने सितारे रहे जिन्होंने अपने शुरुआती करियर में असफलता का सामना किया. लेकिन बाद में इन सितारों ने कामयाबी की बुलंदियों को छुआ. आज हम आपको एक ऐसे अभिनेता के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमें फिल्मों में काम करने के लिए सरकारी नौकरी छोड़ दी थी. लेकिन यह अभिनेता स्क्रीन टेस्ट में फेल हो गया. हालांकि इस अभिनेता ने हार नहीं मानी और फिल्म इंडस्ट्री में अपना एक अलग मुकाम बनाया. बाद में ये अभिनेता फिल्मों में काम करने के लिए हीरो से भी ज्यादा फीस चार्ज करने लगा.

हम बात कर रहे हैं फिल्मों में अपनी दमदार एक्टिंग, बुलंद आवाज में हीरो और विलेन के किरदार से दिल जीतने वाले अभिनेता ओम पुरी की. अमरीश पुरी ने चार दशक तक सिनेमा जगत में राज किया. आपको बता दें कि अमरीश पुरी फिल्मों में आने से पहले लेबर मिनिस्ट्री में काम करते थे. फिल्मी करियर शुरू करने के लिए उन्होंने स्क्रीन टेस्ट दिया और वो फेल हो गए. हालांकि अभिनेता थिएटर से जुड़े रहे.

इस दौरान अभिनेता अपनी पुरानी नौकरी नौकरी छोड़ना चाहते थे. लेकिन सत्यम दुबे से उन्हें सलाम मिली कि जब तक उन्हें फिल्मों में अच्छे लोग ना मिले, वो तब तक नौकरी करते रहे. आखिरकार अमरीश पुरी को फिल्म रेशमा और शेरा के लिए साइन किया गया. उस समय अमरीश पुरी 40 साल के थे. फिल्मी करियर के लिए अमरीश पुरी ने सरकारी नौकरी छोड़ दी.

आपको बता दें कि जब भी अमरीश पुरी इंटरव्यू देते थे तो अपनी आवाज को रिकॉर्ड नहीं करने देते थे. जब इस बारे में उनसे पूछा गया तो अमरीश पुरी ने बताया- अपनी आवाज पर मैंने बहुत मेहनत की है. इसलिए अपने हुनर और काम की फीस से कभी समझौता नहीं करता. मशहूर होने के बाद अमरीश पुरी हीरो से ज्यादा फीस चार्ज करते थे. विलेन के तौर पर फिल्मों में काम करने के लिए अमरीश पुरी 1 करोड़ रुपए लेते थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here