मुलायम परिवार का वो सदस्य जो राजनीति से रहता है दूर, लाइफस्टाइल के लिए है मशहूर

उत्तर प्रदेश में चुनाव हो और मुलायम सिंह यादव के परिवार की बात न हो, ऐसा हो ही नहीं सकता। राजनीति की बात करें तो मुलायम परिवार के सदस्यों की लिस्ट काफी लंबी है।

लेकिन एक ऐसा भी सदस्य है जो मुलायम सिंह के बेहद करीब होने के बावजूद राजनीति से दूर रहता है। यह सदस्य कोई और नहीं बल्कि मुलायम सिंह यादव का बेटा प्रतीक यादव है। प्रतीक यादव राजनीति से दूर हैं, लेकिन अपनी लाइफस्टाइल को लेकर चर्चा में रहते हैं।

कौन हैं प्रतीक यादव ?

समाजवादी पार्टी के संरक्षक और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके मुलायम सिंह यादव ने दो शादियां की हैं। उनकी दूसरी पत्नी का नाम साधना गुप्ता है। साधना के एक बेटे हैं, जिनका नाम प्रतीक यादव है। प्रतीक यादव राजनीति से दूर हैं। वह अपना बिजनेस संभालते हैं। प्रतीक यादव को बॉडी बिल्डिंग का शौक है। आज भी उनकी शानदार बॉडी है। प्रतीक यादव करोड़ों की संपत्ति के मालिक हैं।

5 करोड़ लैम्बॉर्गिनी कार से चलते हैं प्रतीक यादव

साल 2012 में प्रतीक यादव को एक मैगजीन द्वारा ‘द इंटरनेशनल ट्रांसफॉर्मेशन ऑफ द मंथ’ के टाइटल से भी नवाजा गया था। प्रतीक यादव कई फिटनेस जिम के मालिक भी हैं। लखनऊ में ही उन्होंने अपना पहला जिम खोला था, जिसका उद्घाटन खुद मुलायम सिंह यादव ने किया था। प्रतीक यादव यूपी के एकमात्र ऐसे शख्स हैं, जिनके पास 5 करोड़ से ज्यादा के कीमत की लैम्बॉर्गिनी कार है। प्रतीक यादव की लैम्बॉर्गिनी कार की चर्चा यूपी के राजनीतिक गलियारे में भी खूब रही है।

प्रतीक ने अपने सपने को किया पूरा

प्रतीक यादव ने एक इंटरव्यू में बताया था, ‘जब मैं इंग्लैंड में पढ़ाई करता था, तभी से मन में इस गाड़ी को खरीदने की चाह थी।’ 10 साल बाद प्रतीक ने अपने सपने को पूरा करते हुए ब्लू कलर की लैम्बॉर्गिनी कार खरीदी थी। प्रतीक यादव की शादी अपर्णा यादव से हुई है। प्रतीक भले राजनीति से दूर हैं, पत्नी अपर्णा यादव सक्रिय राजनीति करती हैं। अपर्णा लखनऊ कैंट से 2017 में विधानसभी चुनाव भी लड़ चुकी हैं।

कौन हैं अपर्णा यादव ?

अपर्णा यादव प्रतीक यादव की पत्नी हैं। समाजवादी सरकार में अपर्णा को सूचना आयुक्त बनाया था। अपर्णा लखनऊ के भातखंडे संगीत विश्वविद्यालय में 9 साल तक शास्त्रीय संगीत की पढ़ाई की है। अपर्णा ने 2017 का विधानसभा चुनाव लखनऊ कैंट सीट से समाजवादी पार्टी के टिकट पर लड़ा था, लेकिन इस दौरान बीजेपी की रीता बहुगुणा जोशी ने अपर्णा यादव को 33,796 वोटों से हरा दिया था। अपर्णा के लिए अखिलेश यादव ने प्रचार भी किया था। अपर्णा यादव कई मौकों पर बीजेपी और योगी आदित्यनाथ की तारीफ भी कर चुकी हैं। अब उनके बीजेपी में शामिल होने की भी चर्चा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.