पटना- मुजफ्फरपुर सहित 18 जिलों में जमीन का सर्वे, बनेगा नया खतियान

बिहार के 18 जिलों में जनवरी के अंतिम सप्ताह तक विशेष सर्वेक्षण एवं बंदोबस्त का कार्य शुरू कर दिया जायेगा. भू अभिलेख एवं परिमाप निदेशालय ने इसकी तैयारी कर ली है. निदेशक जय सिंह ने संबंधित जिलों के डीएम सह बंदोबस्त पदाधिकारियों को भी अपने- अपने जिले में सर्वे पूर्व होने वाले कार्य शुरू कर देने के निर्देश के साथ ही शिविर आदि को लेकर तैयारी रखने के दिशा- निर्देश जारी कर दिये दिये हैं. जिन क्षेत्रों में कार्य किया जाना है, उनके चयन के लिए अंचल एवं गठित होने वाले शिविरों का निर्धारण भू अभिलेख एवं निदेशालय के नोडल पदाधिकारी की सलाह पर किया जायेगा.

इन जिलों में होगा विशेष सर्वे

राज्य में विशेष सर्वेक्षण एवं बंदोबस्त का कार्य चरणबद्ध तरीके से पूरा किया जाना है. पहले चरण में 20 जिलों में सर्वे का कार्य शुरू किया गया था. इन जिलों में सर्वे का कार्य मंजिल के करीब पहुंचते ही सरकार ने बचे हुए 18 जिला पटना, मुजफ्फरपुर, गया, भागलपुर, भोजपुर, सारण, दरभंगा, औरंगाबाद, कैमूर, बक्सर, वैशाली, रोहतास, पूर्वी चंपारण, मधुबनी, समस्तीपुर, सीवान, गोपालगंज व नवादा में भी विशेष सर्वेक्षण एवं बंदोबस्त शुरू करने की घोषणा कर दी है.

स्वतंत्र रूप से स्थापित होगा बंदोबस्त कार्यालय

जनवरी से ही विशेष सर्वे एवं बंदोबस्त का दूसरा चरण शुरू करने के लिए 18 जिलों के डीएम को कहा गया है कि जिले में बंदोबस्त कार्यालय स्वतंत्र रूप से चार कमरे और एक हॉल वाला बंदोबस्त कार्यालय बना लिया जाए. राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग ने प्रत्येक जिले को चार लाख रुपये के हिसाब से 72 लाख रुपये का बजट भी जारी कर दिया है. इस पैसे से जिलों को बंदोबस्त कार्यालय के लिए तीन लाख रुपये में मशीन और उपकरण खरीदने होंगे. एक लाख रुपये सर्वे के विज्ञापन आदि पर खर्च होंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.