लखनऊ, मेरठ, गोरखपुर, वाराणसी में जमीन लेते समय चेक करें 7 दस्तावेज

आज के वर्तमान समय में बहुत से लोग लखनऊ, मेरठ, गोरखपुर, वाराणसी में जमीन ले रहे हैं। एक रिपोर्ट की मानें तो उत्तर प्रदेश के इन शहरों में ज्यादातर लोग खुद का घर बनाने के लिए जमीन खरीद रहें हैं। इससे जमीन की कीमतों में भी वृद्धि हो रही हैं।

खबर के अनुसार यूपी के इन शहरों में जमीन फर्जीवाड़ा भी देखने को मिल रहा हैं। इसलिए अगर आप इन शहरों में जमीन खरीद रहें हैं तो आप सबसे पहले जमीन के सभी दस्तावेजों को अच्छी तरह से चेक करें। इसके बाद ही जमीन की खरीदारी करें।

लखनऊ, मेरठ, गोरखपुर, वाराणसी में जमीन लेते समय चेक करें 7 दस्तावेज

.लखनऊ, मेरठ, गोरखपुर, वाराणसी में जमीन लेते समय आप सबसे पहले लिंक डॉक्यूमेंट चेक करें। इसके लिए आप जमीन बेचने वाले से पुरानी रजिस्ट्री की कॉपी मांगे।

.अगर कोई ब्रोकर आपको जमीन बेच रहा हैं तो आप उस प्रॉपर्टी बेचने वाले से सबसे पहले पावर ऑफ अटॉर्नी की कॉपी लें।

3 .आप जमीन बेचने वाले से खसरा नंबर की मांग करें और राज्य सरकार के राजस्व विभाग की वेबसाइट पर जा कर जमीन का रिकॉड निकालें।

.जहां जमीन खरीद रहे हैं वहां रेसिडेंशियल परमीशन है या नहीं, इसकी जांच करें। अगर जमीन कमर्शियल या इंडस्ट्रियल है तो इसे ना खरीदें क्योंकि वहां आप घर नहीं बना सकेंगे।

5 .लखनऊ, मेरठ, गोरखपुर, वाराणसी में जमीन लेते समय आप जमीन के टैक्स रसीद की जांच करें। इससे पता चल जायेगा की जमीन का रसीद किसके नाम से कट रहा हैं।

.इन शहरों में जमीन खरीद रहे हैं तो लोकल अथॉरिटी जैसे नगर निगम से नक्शा पास है या नहीं इसकी जांच आवश्य करें।

.रजिस्ट्री से पहले आप जमीन का एग्रीमेंट भी आवश्य कराये। इससे भविष्य में कभी कोई विवाद होता है तो आप कोर्ट में मजबूती से अपना पक्ष रख सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.