दरभंगा के एडीएम के घर छापामारी, करोड़पति निकला बिहार का घूसखोर अधिकारी

46 लाख नकद, फुलवारीशरीफ में 2 प्‍लॉट और दानापुर में 1 फ्लैट; हाल में खुलवाए थे 10 बैंक अकाउंट, पत्‍नी के नाम पर 2 प्‍लॉट, खुद के नाम पर पटना में फ्लैट, 21 साल से नौकरी कर रहे ADM अनिल कुमार पटना. बिहार में भ्रष्‍ट नौकरशाहों के खिलाफ अभियान लगातार जारी है. अब आपदा प्रबंधन विभाग में एक धनकुबेर ADM का पता चला है. इस अधिकारी ने 21 साल की नौकरी में लाखों रुपये की संपत्ति बना ली. आर्थिक अपराध इकाई (Economic Offence Wing) के छापे में इस ADM के पास अकूत संपत्ति का पता चला है. बरामदगी की मात्रा बढ़ भी सकती है. ईओडब्‍ल्‍यू की टीम ने ADM के 4 ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापे मारकर काली कमाई का खुलासा किया है. आर्थिक अपराध इकाई के छापे से नौकरशाहों और बाबुओं में खलबली मची है.

आरोपी ADM अनिल कुमार सिन्‍हा फिलहाल दरभंगा में पदस्‍थ हैं. आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने पटना के मजिस्ट्रेट कॉलोनी में A33 स्थित अनिल कुमार के ससुराल, दानापुर के गोला रोड में रूद्र रेजिडेंसी फ्लैट नंबर 101, भोजपुर जिले में रतनपुरा गांव में स्थित पुश्तैनी घर और दरभंगा में इनके सरकारी आवास और कार्यालय पर एक साथ छापे मारे. दिनभर चली छापे की कार्रवाई में अनिल कुमार सिन्‍हा के पास आय से अधिक संपत्ति होने का खुलासा हुआ है.

बैंक अकाउंट में मिल 46 लाख रुपये : आर्थिक अपराध इकाई के अधिकारियों की मानें तो जो सबूत मिले हैं, उससे पता चलता है कि मौजूदा पोस्टिंग से पहले औरंगाबाद की पोस्टिंग के दौरान अनिल कुमार सिन्हा ने व्‍यापक पैमाने पर भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया था. अनिल कुमार सिन्हा पर आरोप है कि सरकार से मिलने वाले वेतन के अलावा बालू माफियाओं से साठगांठ कर उन्‍होंने लाखों रुपए वसूल किए. जांच में

के अधिकारियों ने खंगाला तो इसमें कुल 36 लाख रुपए की राशि जमा होने का पता चला, जबकि 10 नए बैंक अकाउंट हाल में खुलवाने का भी पता चला है. इन अकाउंट में 10 लाख रुपए जमा थे. यानी अनिल कुमार सिन्हा के यहां मिले बैंक अकाउंट में कुल 46 लख रुपये कैश मिले हैं.

पत्‍नी के नाम पर 2 प्‍लॉट, खुद के नाम पर पटना में फ्लैट
आर्थिक अपराध इकाई के एडीजी नैयर हसनैन खान के निर्देश पर की गई इस कार्रवाई की गई. बैंक डिटेल से पता चला है कि इन अकाउंट के जरिये बड़े पैमाने पर पैसों का ट्रांजैक्शन हुआ है. एडीएम की पत्नी के नाम पर फुलवारी शरीफ के मोहम्मदपुर में 2 प्लॉट खरीदे गए हैं. इस जमीन की कीमत लाखों में बताई जा रही है. इसी तरह अनिल कुमार सिन्हा ने खुद के नाम पर पटना के गोला रोड के रूद्र रेजिडेंसी नाम के अपार्टमेंट में एक फ्लैट खरीद रखा है. इसे 36 लाख 57 हज़ार रुपये में खरीदा गया था.

21 साल से नौकरी कर रहे ADM अनिल कुमार
औरंगाबाद के पूर्व डीटीओ अनिल कुमार सिन्हा को सरकारी नौकरी करते हुए करीब 21 साल हुए हैं. बिहार प्रशासनिक सेवा के तहत साल 2000 में इन्होंने सरकारी नौकरी में योगदान दिया था. दरभंगा से पहले रोहतास, छपरा और औरंगाबाद में इनकी पोस्टिंग हो चुकी है. आर्थिक अपराध इकाई का दावा है कि सरकारी पद का दुरुपयोग करते हुए उन्होंने भारी मात्रा में अवैध कमाई की है. सैलरी के साथ-साथ दूसरे तरीके से 1 करोड़ 28 लाख रुपए से अधिक की आय का पता चला है. इनमें अब तक 96 लाख 69 हज़ार 952 रुपये खर्च किए जा चुके हैं. अनिल कुमार सिन्‍हा के पास 52लाख 10 हज़ार 700 रुपये की चल संपत्ति का पता चला है. कुल मिलाकर आय से अधिक 55 लाख 3 हज़ार 548 रुपये की परिसंपत्ति मिली है. आर्थिक अपराध इकाई के सूत्रों ने न्यूज़ 18 को जानकारी दी है कि इनके हर एक बैंक अकाउंट को खंगाला जाएगा, ऐसे में आय से अधिक संपत्ति का मामला और भी बढ़ सकता है. बता दें कि पिछले 8 दिसंबर को पटना में अनिल कुमार सिन्हा के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का केस दर्ज किया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.