बिहार के इस सड़क पर 100 किलोमीटर के ऊपर से फर्राटा भरेगी गाड़ियां, इन 10 जिलों से होकर गुज़रेगी!!

भविष्य की जरूरतों को देखते हुए अब चौड़ी और बेहतरीन सड़कों का निर्माण किया जा रहा है ताकि कम समय में सुगमता से सफर को पूरा किया जा सके। देश के अलग-अलग हिस्सों में से सड़कों का निर्माण कार्य चल रहा है।

लेकिन अब जल्द ही बिहार में से भी एक ऐसी सड़क गुजरने वाली है जिस पर 100 किलोमीटर से अधिक की रफ्तार से गाड़ियां फर्राटा भरेंगी। आर्थिक रूप से पिछड़े बिहार की तरक्की में यह सड़क महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

इन 10 जिलों से गुजेरगी सड़क।

जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार ने गोरखपुर से सिलीगुड़ी के बीच एक्सप्रेस-वे के निर्माण की सैद्धांतिक सहमति दे दी है। इसके बाद पथ निर्माण विभाग में इस सड़क को साकार करने की कवायद शुरू कर दी गई है। गोरखपुर- सिलीगुड़ी एक्सप्रेसवे सबसे पहले गोपालगंज में प्रवेश करेगा, इसके बाद सीवान, छपरा, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, सहरसा, पूर्णिया, किशनगंज होते हुए सिलीगुड़ी जाएगा। यह न सिर्फ बिहार को यूपी और बंगाल के बीच न केवल आवागमन आसान करेगा बल्कि व्यापार के नए रास्ते भी इससे खुलेंगे। इस एक्सप्रेसवे का पूरा हिस्सा ग्रीनफील्ड होगा। यह भी जानकारी मिली है कि किसी पुरानी सड़क को एक्सप्रेस-वे में शामिल नहीं किया जाएगा।

100 किलोमीटर प्रति घंटे से अधिक होगी रफ्तार।

बता दें कि एक्सप्रेस-वे पर गाड़ियों की रफ्तार 100 किलोमीटर से अधिक जाने की अनुमति होती है। इसका एक निर्माण ही इस तरीके से किया जाता है कि इतनी रफ्तार से गाड़ी आसानी से चल सके। इस एक्सप्रेस वे के भी 6 से 8 लेन होने की उम्मीद है। जाहिर है ऐसे में गोरखपुर से सिलीगुड़ी का सफर काफी कम समय में पूरा हो सकेगा। गोरखपुर से सिलीगुड़ी के बीच दूरी घटकर 600 किलोमीटर रह जाएगी। इन 600 किलोमीटर में से 416 किलोमीटर सड़क बिहार में होगी। ऐसे में जाहिर तौर पर बिहार को इससे काफी ज्यादा फायदा होगा। जिन जिलों से होकर यह सड़क गुजरेगी वहां के व्यापार को भी पंख लगेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.